रणनीति विचार

ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया

ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया
६ फिर जब ऑनलाइन वेरिफिकेशन के लिए आपको आधार कार्ड की जानकारी देने होगी यहाँ पर ज़ेरोढा ने एक बदलाव किया है आधार कार्ड के लिए आपको डिजिलॉकर का इस्तेमाल करना पढ़ेगा। मैंने एक पोस्ट आर्टिकल मे उमंग अप्प और डिजिलॉकर के बारे मे लिखा आप पढ़ सकते है।

PAN with your SBI bank account

Angel Broking मै डीमैट ट्रेडिंग खाता कैसे खोले ? Trading account Opening

एंजेल ब्रोकिंग भारत के पुराने फुल सेवीके ब्रोकर मे से एक है और इसकी शुरवात १९८७ मे हुई और आज लगभग २ मिलियन से ज्यादा ग्राहक है। पुराणी और फुल सर्विस ब्रोकर होने के कारन इनके सबब्रोकर भी ज्यादा है।
और कंपनी के ब्रांच भी काफी मात्रा है चाहे आप कौन से भी शहर मे हो आपको इनकी ब्रांच मिल जाएगी। एंजेल ब्रोकिंग को BSE ,NSE ,और बाकि सभी एक्सचेंज की सदस्यता है।

एंजेल ब्रोकिंग अपने ग्राहकोंको इक्विटी ,मुद्रा निवेश ,पोर्टफोलिओ प्रबंधन ,लाइफ इन्शुरन्स ,ETF ,आईपीओ ,म्यूच्यूअल फण्ड ,कमोडिटी ,और लोन की सेवाएं प्रदान करती है। एंजेल ब्रोकिंग भी तकनीक मे मामले मे पीछे नहीं रहा अलग अलग विकसित ट्रेडिंग प्लेटफार्म प्रदान किये है। और इसके आलावा अलगो ट्रेडिंग भी शामिल है।

एंजेल ब्रोकिंग के फायदे :

  • पूरी तरह से ऑनलाइन खाता खोलने की प्रक्रिया पेपरलेस अकाउंट ओपनिंग।
  • म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश का विकल्प।
  • लगभग सभी बैंको द्वारा फण्ड ट्रांसफर कर सकते है।
  • तकनिकी रूप से सक्षम ट्रेडिंग प्लेटफार्म और एप्लीकेशन प्रणाली।
  • ARQ नामक अलगो ट्रेडिंग की नए टेक्नोलॉजी।
  • पार्टनर प्रोग्राम द्वारा ज्यादा मात्रा सब ब्रोकर्स जिनसे व्यक्तिगत सहायता उपलब्ध।
  • भारत मे फुल सर्विस ब्रोकर मे पहले ५ मे एंजेल ब्रोकिंग।
  • अपडेटेड ट्रेडिंग प्लेटफार्म।
  • इंट्राडे के निवेश के लिए ज्यादा मार्जिन की उपलब्धता।
  • हर एक शेयर के बारे मे विस्तृत अभ्यास और रिपोर्ट शामिल।
  • कई सारे निवेश के विकल्प एव बिमा सेवा भी शामिल।
  • शेयर होल्डिंग पर लोन की सुविधा।
  • इक्विटी निवेश
  • म्यूच्यूअल फण्ड
  • लाइफ इन्शुरन्स
  • आईपीओ
  • पोर्टफोलिओ मैनेजमेंट सेवा (पीएमएस )
  • रोबो सलाहगार सेवा


एंजेल ब्रोकिंग मे डीमैट ट्रेडिंग खाता खोलने का शुल्क :

एंजेल ब्रोकिंग मे आपको डीमैट खाता फ्री मे ओपन करके मिलेगा लेकिन आपको AMC एनुअल मेन्टेन्स चार्जेज ४५० रुपये हर साल भरनी होगी।

हलाकि आप इस प्रक्रिया को पेपरलेस तरीके के से भी कर सकते है जिसके लिए आपको इन दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करनी होगी।

  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट
  • वोटर आयडी
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट
  • वोटर ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया आय डी
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • लाइट बिल
  • बैंक पासबुक

कैसे खोले ज़ेरोढा मे अपना ऑनलाइन डिमैट खाता? Zerodha Trading Account Opening

करीब ६ साल से ज्यादा समय से मे शेयर बाजार मे निवेश और ट्रेडिंग कर रहा हु इससे पहले और इससे मुझे काफी अनुभव प्राप्त हुआ है। पहले ५ मैंने अपना डिमैट खता HDFC सिक्योरिटीज के साथ खोला था HDFC सिक्योरिटीज एक अच्छी और अग्रगण्य दलाल एजेंसी है। उनकी सर्विस भी बोहोत अच्छी है लेकिन जब मैंने डिस्काउंट ब्रोकर की सहायता से ट्रेडिंग करने वालो की निवेशकों की बात सुनी तो मुझे HDFC सिक्योरिटीज के चार्जेज ज्यादा लग रहे थे। बोहोत से समय ऐसा होता था की मुझे प्रॉफिट हो जाता था लेकिन दलाली ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया के कमिशन के बजह से आधा प्रॉफिट कमिसन मे चला जाता था और लोस्स मे बेचने के बाद भी दलाली देनी पड़ती थी।

ज़ेरोढा मे डीमैट खाता खोलने के फायदे :

  • इक्विटी फीचर एंड ऑप्शंस करेंसी एंड कमोडिटी इन सभी विकल्पों को सभी एक्सचेंज को एक ही तरह के चार्जेज होते है।
  • फ्री इक्विटी डिलीवरी ट्रेड और अगले दिन खरीदने और बेचने पर ०.०१ या फिर २० रुपये फ्लैट जो भी ज्यादा होगा उतना कमिसन ब्रोकरेज।
  • मदत और ऑनलाइन सहायता के लिए ज़ेरोढा कनेक्ट सहायता मंच और ब्लॉग के द्वारा सहातया के लिए अच्छे अच्छे आर्टिकल।
  • Pi डेस्कटॉप सिस्टम द्वारा एडवांस ट्रेडिंग चार्ट सिस्टम ,और विश्लेषण की सेवा।
  • उसके आलावा मोबाइल से ट्रेडिंग करने के लिए Zerodha Kite का एंड्राइड अप्प।
  • ज़ेरोढा मे आपको ६ प्रकार के विश्लेषण चार्ट फ्री मे उपलब्ध है।
  • किसी भी तरह का छुपा शुल्क नहीं लिया जाता है।
  • भारत के लगभग ७५ शहरों मे ऑफलाइन सेवा भी ज़ेरोढा प्रदान करता है।
  • ज़ेरोढा कॉइन से आप म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश कर सकते है।
  • NRI के लिए भी अच्छी सेवाएं दी जारी ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया है।
  • ट्रेडिंग खता मे ० बैलेंस होकर भी कोई चार्ज नहीं लिया जाता।

ज़ेरोढा ट्रडिंग खाता खोलने ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया की प्रक्रिया :

ऑनलाइन विकल्प से आप ज़ेरोढा मे खुद का खता सिर्फ कुछ घंटो मे चालू कर सकते है अगर आपका आधार कार्ड और मोबाइल नंबर लिंक है तो यह सिर्फ ३० मिनट का काम है। इससे आप डिजिटल हस्ताक्षर के माध्यम से खाता खोल सकते है।

इससे पहले मैंने आपको ट्रेडिंग खता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज की जानकारी दी है अब आगे जानते है पूरी प्रक्रिया विस्तार से।

१ सबसे पहले आपको ज़ेरोढा के अधिकृत वेबसाइट पर जाना है जहा से आप ज़ेरोढा को पर आवेदन देने वाले है। इसके लिए यहाँ क्लिक करे। Zerodha Sign Up

२ ठीक बाद आपको खुद का मोबाइल नंबर डालकर sign up का विकल्प चुनना है। आपको आपके फ़ोन पर OTP मिलेगा उससे आपका नंबर Veriiy करना है। (ऑनलाइन प्रक्रिया के लिए आधार कार्ड से लिंक नंबर दर्ज करे )

३ उसके बाद खुद का नाम ईमेल आयडी डालकर मेल आयडी को वेरीफाई करना है यही मेल ID से आपको ज़ेरोढा से हर व्यव्हार के मेल आएंगे।

Demat Account: क्या है डीमैट अकाउंट, जानें खाता खोलने के लिए कौन से दस्तावेज हैं जरूरी

प्रियंका सिंह

Demat Account

  • जानिए क्या है डीमैट अकाउंट।
  • यह ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करते हैं।
  • जानें डीमैट अकाउंट खोलने के लिए कौन से दस्तावेज हैं जरूरी हैं।

शेयर बाजार में स्टॉक ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया खरीदना और बेचना है तो उसके लिए डीमैट अकाउंट होना अनिवार्य है। डीमैट अकाउंट एक तरह से आपके बैंक अकाउंट की तरह होता है। अगर आप ऑनलाइन डीमैट अकाउंट खोल रहे हैं तो आपको डीपी(ब्रोकर/बैंक) की वेबसाइट पर लॉगिन कर के अपना पैन कार्ड और एड्रेस प्रूफ अपलोड करना होगा। आवश्यक डॉक्यूमेंट बैंकों और अन्य वित्तीय संगठनों में आम हैं जो ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करते हैं। स्टॉक मार्केट के मामले में डीमैट अकाउंट का इस्तेमाल एक ऐसे अकाउंट और लॉकर के रूप में किया जाता है, जहां आप खरीदे गए शेयर्स को जमा कर सकें। डीमैट अकाउंट खोलने से पहले आपको पर्सनल और इनकम डीटेल शेयर करने होते हैं।

डीमैट अकाउंट क्या होता है? शेयरों की खरीद और बिक्री कैसे की जाती है?

डीमैट अकाउंट क्या होता है? शेयरों की खरीद और बिक्री कैसे की जाती है?

शेयर मार्केट में निवेश शुरू करने के लिए आपको तीन अकाउंट (खातों) की जरूरत होती है. ये तीन अकाउंट हैं डीमैट अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट और बैंक अकाउंट. हर अकाउंट का अपना एक अलग काम होता है, लेकिन ट्रांजैक्शन (लेन-देन) को पूरा करने के लिए तीनों एक-दूसरे पर निर्भर होते हैं. शेयर मार्केट में ट्रेडिंग के लिए ये तीन अकाउंट होने चाहिए.

डीमैट अकाउंट क्या है?

डीमैट अकाउंट एक बैंक अकाउंट के समान है. जैसे एक सेविंग अकाउंट (बचत खाता) पैसे को चोरी होने और किसी भी गड़बड़ी से बचाता है, वैसे ही एक डीमैट अकाउंट निवेशकों के लिए भी यही काम करता है. डीमैट अकाउंट या डीमैटरियलाइज्ड अकाउंट इलेक्ट्रॉनिक रूप में शेयरों और सिक्योरिटीज को रखने की सुविधा देता है. ये अकाउंट फिजिकल शेयरों को डीमैट रूप में स्टोर (संग्रहित) करते हैं. फिजिकल शेयरों को इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित करने की प्रक्रिया (प्रोसेस) को डिमैटेरियलाइजेशन कहा जाता है. जब भी ट्रेडिंग की जाती है तो इन शेयरों को डीमैट अकाउंट में क्रेडिट या डेबिट किया जाता है.

डिमैट अकाउंट खोलने की प्रक्रिया – (Demat Account Opening Process in Hindi)

डीमैट अकाउंट (Demat Account) हम आसानी से घर बैठे ऑनलाइन खोल सकते हैं। इसके लिए हमें कहीं जाने के लिए आवश्यकता नहीं है।

Demat Account Opening Process in Hindi

  • डिमैट अकाउंट ऑनलाइन ओपनिंग के लिए सबसे पहले अपने पसंदीदा ब्रोकिंग वेबसाइट पर जाकर Open Account के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • उसके बाद वहां पूछे गए डिटेल्स जैसे- नाम, पूरा पता, फोन नंबर इत्यादि भर दे। इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • फिर अगले प्रोसेस में जाने के लिए उस ओटीपी को दर्ज करें। इसके बाद अपना केवाईसी विवरण जैसे पैन कार्ड, डेट ऑफ बर्थ, सेविंग अकाउंट डिटेल्स, संपर्क नंबर इत्यादि भर दे।
  • लीजिए अब आपका डिमैट अकाउंट तैयार है। डीमैट खाता संख्या आपके ईमेल या मोबाइल नंबर पर S.M.S. के माध्यम से मिल जाएंगा।
  • डिमैट अकाउंट ओपनिंग के लिए स्टॉक ब्रोकर 600 रुपए से लेकर 900 रुपए तक शुल्क लेते हैं।

डीमेट अकाउंट ओपन कराने के फायदे – (Benefits of opening a Demat Account in Hindi)

  • डिमैट अकाउंट (ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया Demat Account) वर्तमान समय में निवेशकों को घर बैठे शेयर खरीदने और बेचने की सुविधा प्रदान करता है। इन सभी के अलावा शेयर के डॉक्यूमेंट डिमैट अकाउंट में इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रहते हैं। जिसके कारण इन्हें खोने एवं चोरी होने का डर नहीं रहता हे।
  • यदि आप अपने शेयर को दूसरे डिमैट अकाउंट (Demat Account) में ट्रांसफर करना चाहते हैं,तो इस पर किसी भी प्रकार के स्टॉप ड्यूटी की आवश्यकता नहीं होती है। इससे पहले शेयर ट्रांसफर की प्रक्रिया में काफी सारे कागजी कार्रवाई को पूरा करना पड़ता था।
  • 5paisa डीमैट ट्रेडिंग अकाउंट (5paisa Demat Trading Account)
  • अपस्टॉक्स डिमैट अकाउंट (Upstox demat account)
  • कोटक सिक्योरिटीज डीमेट ट्रेडिंग अकाउंट ( Kotak Securities Demat Trading Account)
  • ज़ीरोधा (Zerodha Demat Account)
  • एंजल ब्रोकिंग डिमैट अकाउंट (Angel Broking Demat Account)

अंतिम शब्द

तो दोस्तों हमने इस आर्टिकल के माध्यम से बताया कि डिमैट अकाउंट क्या होता है (What is Demat Account in Hindi) और इसे कैसे ओपन कराया जाता है। डिमैट अकाउंट के फायदे क्या है। हम उम्मीद करते हैं कि आप इसे समझ गए होंगे। यदि आप ऐसे ही शेयर मार्केट और बैंकिंग से जुड़े अन्य किसी दूसरे खबर के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारे वेबसाइट के साथ जुड़े रहे।

और इस आर्टिकल को अपने फ़ेसबुक, व्हाट्सएप, ट्रेडिंग अकाउंट ऑनलाइन खोलने की प्रक्रिया ट्विटर, इंस्टाग्राम और लिंकडिन अकाउंट के माध्यम से सोशल मीडिया पर भी शेयर करे और इस ब्लॉग को आगे बढ़ने में मदद करे। बहुत जल्द मिलते हैं एक नए आर्टिकल के साथ नमस्कार।

रेटिंग: 4.66
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 528
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *